Sri Arunachaleshwara Ashtottara Shatanamavali – श्री अरुणाचलेश्वर अष्टोत्तरशतनामावली

ओं शोणाद्रीशाय नमः
ओं अरुणाद्रीशाय नमः
ओं देवाधीशाय नमः
ओं जनप्रियाय नमः
ओं प्रपन्नरक्षकाय नमः
ओं धीराय नमः
ओं शिवाय नमः
ओं सेवकवर्धकाय नमः
ओं अक्षिपेयामृतेशानाय नमः ॥ ९

ओं स्त्रीपुंभावप्रदायकाय नमः
ओं भक्तविज्ञप्तिसमादात्रे नमः
ओं दीनबन्धुविमोचकाय नमः
ओं मुखराङ्घ्रिपतये नमः
ओं श्रीमते नमः
ओं मृडाय नमः
ओं मृगमदेश्वराय नमः
ओं भक्तप्रेक्षणाकृते नमः
ओं साक्षिणे नमः ॥ १८

ओं भक्तदोषनिवर्तकाय नमः
ओं ज्ञानसम्बन्धनाथाय नमः
ओं श्रीहालाहलसुन्दराय नमः
ओं आहुवैश्वर्यदाताय नमः
ओं स्मृतसर्वाघनाशनाय नमः
ओं व्यतस्तनृत्याय नमः
ओं ध्वजधृते नमः
ओं सकान्तिने नमः
ओं नटनेश्वराय नमः ॥ २७

ओं सामप्रियाय नमः
ओं कलिध्वंसिने नमः
ओं वेदमूर्तिने नमः
ओं निरञ्जनाय नमः
ओं जगन्नाथाय नमः
ओं महादेवाय नमः
ओं त्रिनेत्रे नमः
ओं त्रिपुरान्तकाय नमः
ओं भक्तापराधसोढाय नमः ॥ ३६

ओं योगीशाय नमः
ओं भोगनायकाय नमः
ओं बालमूर्तये नमः
ओं क्षमारूपिणे नमः
ओं धर्मरक्षकाय नमः
ओं वृषध्वजाय नमः
ओं हराय नमः
ओं गिरीश्वराय नमः
ओं भर्गाय नमः ॥ ४५

ओं चन्द्ररेखावतंसकाय नमः
ओं स्मरान्तकाय नमः
ओं अन्धकरिपवे नमः
ओं सिद्धराजाय नमः
ओं दिगम्बराय नमः
ओं आगमप्रियाय नमः
ओं ईशानाय नमः
ओं भस्मरुद्राक्षलाञ्छनाय नमः
ओं श्रीपतये नमः ॥ ५४

ओं शङ्कराय नमः
ओं सृष्टाय नमः
ओं सर्वविद्येश्वराय नमः
ओं अनघाय नमः
ओं गङ्गाधराय नमः
ओं क्रतुध्वंसिने नमः
ओं विमलाय नमः
ओं नागभूषणाय नमः
ओं अरुणाय नमः ॥ ६३

ओं बहुरूपाय नमः
ओं विरूपाक्षाय नमः
ओं अक्षराकृतये नमः
ओं अनाद्यन्तरहिताय नमः
ओं शिवकामाय नमः
ओं स्वयम्प्रभवे नमः
ओं सच्चिदानन्दरूपाय नमः
ओं सर्वात्माय नमः
ओं जीवधारकाय नमः ॥ ७२

ओं स्त्रीसङ्गवामभागाय नमः
ओं विधये नमः
ओं विहितसुन्दराय नमः
ओं ज्ञानप्रदाय नमः
ओं मुक्तिदाय नमः
ओं भक्तवाञ्छितदायकाय नमः
ओं आश्चर्यवैभवाय नमः
ओं कामिने नमः
ओं निरवद्याय नमः ॥ ८१

ओं निधिप्रदाय नमः
ओं शूलिने नमः
ओं पशुपतये नमः
ओं शंभवे नमः
ओं स्वयंभुवे नमः
ओं गिरीशाय नमः
ओं सङ्गीतवेत्रे नमः
ओं नृत्यज्ञाय नमः
ओं त्रिवेदिने नमः ॥ ९०

ओं वृद्धवैदिकाय नमः
ओं त्यागराजाय नमः
ओं कृपासिन्धवे नमः
ओं सुगन्धिने नमः
ओं सौरभेश्वराय नमः
ओं कर्तवीरेश्वराय नमः
ओं शान्ताय नमः
ओं कपालिने नमः
ओं कलशप्रभवे नमः ॥ ९९

ओं पापहराय नमः
ओं देवदेवाय नमः
ओं सर्वनाम्ने नमः
ओं मनोवासाय नमः
ओं सर्वाय नमः
ओं अरुणगिरीश्वराय नमः
ओं कालमूर्तये नमः
ओं स्मृतिमात्रेणसन्तुष्टाय नमः
ओं श्रीमदपीतकुचाम्बासमेत श्रीअरुणाचलेश्वराय नमः ॥ १०८

इति श्री अरुणाचलेश्वर अष्टोत्तरशतनामावली ।


గమనిక: "శ్రీగణేశ స్తోత్రనిధి" పుస్తకము ముద్రణ చేయుటకు ఆలోచన చేయుచున్నాము..

Facebook Comments

You may also like...

error: Not allowed
%d bloggers like this: