Sri Samba Sada Shiva Aksharamala Stotram – श्री साम्बसदाशिव अक्षरमाला स्तोत्रम्

साम्ब सदाशिव साम्ब सदाशिव
साम्ब सदाशिव साम्ब शिव ॥

अद्भुतविग्रह अमराधीश्वर
अगणित गुणगण अमृत शिव ॥

आनन्दामृत आश्रितरक्षक
आत्मानन्द महेश शिव ॥

इन्दुकलाधर इन्द्रादिप्रिय
सुन्दररूप सुरेश शिव ॥

ईश सुरेश महेश जनप्रिय
केशवसेवित कीर्ति शिव ॥

उरगादिप्रिय उरगविभूषण
नरकविनाश नटेश शिव ॥

ऊर्जितदान वनाश परात्पर
आर्जितपापविनाश शिव ॥

ऋग्वेदशृति मौलि विभूषण
रविचन्द्राग्नित्रिनेत्र शिव ॥

ॠपनामादि प्रपञ्चविलक्षण
तापनिवारण तत्त्व शिव ॥

लुल्लिस्वरूप सहस्रकरोत्तम
वागीश्वर वरदेश शिव ॥

लूताधीश्वर रूपप्रिय हर
वेदान्तप्रिय वेद्य शिव ॥

एकानेक स्वरूप सदाशिव
भोगादिप्रिय पूर्ण शिव ॥

ऐश्वर्याश्रय चिन्मय चिद्घन
सच्चिदानन्द सुरेश शिव ॥

ओङ्कारप्रिय उरगविभूषण
ह्रीङ्कारप्रिय ईश शिव ॥

औरसलालित अन्तकनाशन
गौरिसमेत गिरीश शिव ॥

अम्बरवास चिदम्बरनायक
तुम्बुरुनारदसेव्य शिव ॥

आहारप्रिय अष्टदिगीश्वर
योगिहृदिप्रियवास शिव ॥

कमलापूजित कैलासप्रिय
करुणासागर काशि शिव ॥

खड्गशूलमृगटङ्कधनुर्धर
विक्रमरूप विश्वेश शिव ॥

गङ्गा गिरिसुतवल्लभ शङ्कर
गणहित सर्वजनेश शिव ॥

घातकभञ्जन पातकनाशन
दीनजनप्रिय दीप्ति शिव ॥

ङान्तस्वरूपानन्द जनाश्रय
वेदस्वरूप वेद्य शिव ॥

चण्डविनाशन सकलजनप्रिय
मण्डलाधीश महेश शिव ॥

छत्रकिरीटसुकुण्डलशोभित
पुत्रप्रिय भुवनेश शिव ॥

जन्मजरामृत्यादिविनाशन
कल्मषरहित काशि शिव ॥

झङ्कारप्रिय भृङ्गिरिटिप्रिय
ओङ्कारेश विश्वेश शिव ॥

ज्ञानाऽज्ञानविनाशन निर्मल
दीनजनप्रिय दीप्ति शिव ॥

टङ्कस्वरूप सहस्रकरोत्तम
वागीश्वर वरदेश शिव ॥

ठक्काद्यायुध सेवित सुरगण
लावण्यामृतलसित शिव ॥

डम्भविनाशन डिण्डिमभूषण
अम्बरवास चिदेश शिव ॥

ढण्ढण्डमरुक धरणीनिश्चल
ढुण्ढिविनायकसेव्य शिव ॥

णाणामणिगणभूषण निर्गुण
नतजनपूतसनाथ शिव ॥

तत्त्वमस्यादिवाक्यार्थस्वरूप
नित्यस्वरूपनिजेश शिव ॥

स्थावरजङ्गम भुवनविलक्षण
तापनिवारणतत्त्व शिव ॥

दम्भविनाशनदलितमनोभव
चन्दनलेपितचरण शिव ॥

धरणीधर शुभधवलविभासित
धनदादिप्रियदान शिव ॥

नलिनविलोचन नटनमनोहर
अलिकुलभूषण अमृत शिव ॥

पन्नगभूषण पार्वतिनायक
परमानन्द परेश शिव – हर – शाम्ब

फालविलोचन भानुकोटिप्रभ
हालाहलधर अमृत शिव ॥

बन्धविमोचन बृहतीपावन
स्कन्दादिप्रिय कनक शिव ॥

भस्मविलेपन भवभयमोचन
विस्मयरूप विश्वेश शिव ॥

मन्मथनाशन मथुरनायक
मन्दरपर्वतवास शिव ॥

यतिजनहृदयाधिनिवास
विधिविष्ण्वादिसुरेश शिव ॥

रामेश्वरपुररमणमुखाम्बुज
सोमेश्वर सुकृतेश शिव ॥

लङ्काधीश्वर सुरगणसेवित
लावण्यामृतलसित शिव ॥

वरदाऽभयकर वासुकिभूषण
वनमालादिविभूष शिव ॥

शान्तिस्वरूपाऽतिप्रिय सुन्दर
वागीश्वर वरदेश शिव ॥

षण्मुखजनक सुरेन्द्र मुनिप्रिय
षाड्गुण्यादिसमेत शिव ॥

संसारार्णवनाशन शाश्वत
साधुजनप्रियवास शिव ॥

हर पुरुषोत्तम अद्वैतामृत
मुररिपुसेव्य मृडेश शिव ॥

लालितभक्तजनेश निजेश्वर
कालिनटेश्वर काम शिव ॥

क्षररूपादिप्रियान्वित साक्षात्
स्वामिन्नम्बासमेत शिव ॥

साम्ब सदाशिव साम्ब सदाशिव
साम्ब सदाशिव साम्ब शिव ॥

Facebook Comments

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Download Stotra Nidhi mobile app